Friday, 21 September 2018

IAS Officer कैसे बने ? सारी जानकारी हिंदी में।

देश के सबसे पॉवरफुल जॉब की बात करें तो हर किसी के जुबान में होता है आईएएस। इसलिए हर किसी का शौक/सपना होता है कि वह आईएएस बने और देश की सेवा करे। आज हम आपसे बात करेंगे " आईएएस कैसे बने " ( How To Become an IAS, all details in Hindi ). इसके साथ ही आपको यहाँ आईएएस कैसे बनें एवं इससे जुडी सारी जानकारी जैसा कि आईएएस ऑफिसर बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता क्या है (Educational Qualification), उम्र सीमा ( Age Limit ) क्या है, एग्जाम फॉर्म कब भर सकते हैं, क्या Percentage चाहिए होता है, एग्जाम कुल कितने स्टेज में होता है, कितनि बार attempt दे सकते हैं, Cut Off कितना होता है, syllabus क्या है, पढ़ाई कैसे करनी चाहिए, सैलरी कितनी मिलती है,

आईएएस का एग्जाम UPSC कंडक्ट करती है यानी कि यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन ( Union Public Service Commission).

आइये अब जानते हैं कि आईएएस बनने के लिए क्या क्वालिफिकेशन चाहिए होती है?
इसमे सबसे अच्छी बात है कि अप्लाई करने के लिए सिर्फ आपको ग्रेजुएट होना चाहिए, यह मतलब नही रखता है कि आप किस सब्जेक्ट से ग्रेजुएट हो। सिर्फ आपको मिनिमम मार्क्स से ग्रेजुएट होना होता है, और आप लास्ट ईयर या लास्ट सेमेस्टर के स्टूडेंट्स हैं तो भी आप अप्लाई कर सकते हो। चाहे आप B.A, B.Sc, B.Com, Engineering (B.E, B.Tech) BBA, BCA, Medical या कोई भी ग्रैजुएट डिग्री हो आपके पास तो आप एलिजिबल हो UPSC का एग्जाम देने के लिए।

और एक जरुरी बात है कि कैंडिडेट इंडियन सिटीजन होना होना चाहिए आईएएस और आईपीएस बनने के लिए। ओर इसके अलावा जो दूसरे सर्विसेज हैं जैसे कि IFS, IRS, आदि के लिए माइग्रेट हो सकते हैं जैसे पाकिस्तान, नेपाल, भूटान के।


आईएएस बनने के लिए उम्र सीमा क्या है?
इसमे सभी कोटी के लिए अलग अलग उम्र सीमा है, जैसा की General Category के लिए 21 से 32 वर्ष है। वहीं OBC के लिए 21 से 35 वर्ष है और साथ ही ST/SC के लिए 21 से 37 वर्ष है।

अगर आप जम्मू और कश्मीर से हैं तो सामान्य वर्ग के लिए 21 से 37 वर्ष है उम्र सीमा। और फिजिकल चलेंजड़ के लिए 10वर्ष की छूट है ओर अधिक्तम उम्र सीमा 42वर्ष है।

और जो डिसेबल्ड कैंडिडेट हैं उसमें जेनेरल के लिए अधिक्तम उम्र सीमा 37वर्ष, OBC के लिए 38वर्ष ओर ST/SC के लिए 40वर्ष है।
उम्र सीमा जानने के बाद चलिये अब जानते हैं कि आप कितना एटेम्पट दे सकते हो।

आईएएस बनने के लिए UPSC के एग्जाम में कितना एटेम्पट दे सकते हैं?
इसमें भी कैटोगरी के लिए अलग अलग attmpt सीमित किये गए हैं, जैसा कि
General Catogory- 6 Attempts
OBC - 9 Attempts
ST/SC- No Limits
Jammu & Kashmir- Upto the Completion of Age Limit

एटेम्पट की बात करें तो ये तभी काउंट होंगे जब आप Prelimps Exam में बैठेंगे, ऐसा नही है कि आपने फॉर्म भर दिया और आपका एटेम्पट काउंट हो गया।

आईएएस के लिए UPSC एग्जाम का पैटर्न क्या है?
इसमे सबसे पहले Preliminary Exam होता है, फिर Mains Exam और फिर लास्ट में आता है, Interview, जिसमे की अधिकतर लोग रिजेक्ट हो जाते हैं।
Prelimps  में दो पेपर का एग्जाम होता है, पहला General Studies जिसमे कुल 100 questions ओर दूसरा CSAT जिसमें 80 Questions होते हैं। ओर दोनों 200-200 नम्बर के होते हैं। आप किसी भी language हिंदी या English में एग्जाम दे सकते हो अपने इच्छा के अनुसार।

इस एग्जाम का Syllabus क्या है?
UPSC के प्रीलिम्स यानी कि पेपर-1 में General स्टडीज से प्रश्न रहते हैं जिसमें History, Geography एवं Agriculture, Polity, Science and Technology, Ecology and Environment, Economics, Arts and Culture, Social Welfare and GK. The dominating sections were Current Affairs, Ecology और Environment, Economics एवं History. इन सब सब्जेक्ट से प्रश्न पूछा जाता है।

अब बारी आती है पेपर-2 की जो CSAT की होती है। इसमे एसएससी, बैंक के जैसे questions होते हैं, जैसे लॉजिकल रीजनिंग, कंप्रेहेंशन्स, डिसिशन मेकिंग इत्यादि।

अब आप पूछ सकते हो कि पहला और दूसरा पेपर में अंतर क्या है?
तो आपको बता दें दूसरा पेपर सिर्फ क्वालीफाइंग होती है, जिसमे आपको सिर्फ क्वालीफाई होना रहता है। ओर पेपर-1 के मार्क्स आपको Mains में बैठने को एलिजिबल करता है।


ओर बात करें PT Cut-off की तो 2016 में  General के लिए 116.66, ओबीसी के लिए 110, SC के लिए 99.34, ST के लिए 96 था।

ओर बात करें तो mains एग्जाम की तो इसमें कुल 9 पेपर होते हैं, जिसमे टोटल 1750 नंबर होते हैं। 9 पेपर में से 7 में ज्यादा ध्यान देना होता है, क्योंकि मेरिट इन्ही 7 पेपर से बनती है। ओर 2 पेपर क्वालिफिंग होती है। इसके मार्क्स ऐड नही होते लेकिन आपको 33% अंक लेकर आपको पास होना होता है। इसमे एक पेपर इंग्लिश का होता है और दूसरा लोकल लैंग्वेज का। और launguage में उसी का एग्जाम होगा जिसका नाम संविधान में हो।

अब बारी आती है, Mains एग्जाम के सब्जेक्ट की तो इसमे पेपर-1 में General Essay यानी कि निबंध लिखने होते हैं, इसमे कुल 2 निबंध लिखने होंगे।
ओर पेपर-2 जनरल स्टडीज का होता है जिसमे इंडियन हिस्ट्री एवं कल्चर, वर्ल्ड जियोग्राफी एंव सोसाइटी के प्रश्न होते हैं।
पेपर-3 मे कॉन्स्टिट्यूशन, पॉलिटिक्स, सोशल जस्टिस एवं इंटरनेशनल रिलेशन होता है।
पेपर-4 में बायोडायवर्सिटी, टेक्नोलॉजी, इकोनॉमिक्स डेवलपमेंट, एनवायरनमेंट, सेक्युरिटी एवं डिजास्टर मैनेजमेंट का एग्जाम होता है।
ओर अंत मे आता है पेपर-5 जिसमे एथिक्स, इंटेग्रिटी एवं एप्टीट्यूड का प्रश्न होता है।

2016 Mains Cut-off की बात करे तो जनरल के लिए 785, ओबीसी के लिए 745, sc के लिए 739, st के लिए 730 गया था।

ओर अंत मे आता है इंटरव्यू। जो की सरल सब्दो में कहें तो काफी टफ होता है, टफ इसलिए क्योंकि इसमें प्रीलिम्प्स और माइंस तो अधिकतर लोग पास कर जाते हैं और ये कॉन्फिडेंस की कमी के कारण होता है। लेकिन इंटरवियू में छत जाते हैं। ये उतना भी मुश्किल नही होता है।

और 2016 फाइनल  cut-off की बात करें तो कुछ इस तरह था, जनरल के लिए 988, ओबीसी के लिए 951, sc केलिए 937 एवं st के लिए 920.

फॉर्म भरते समय ही आपसे पूछा जाएगा की आपको को सी सर्विस पसन्द है।
ओर ये तीन सर्विसेज हैं जिन्हें आल इंडिया सर्विसेज कहा जाता है, IAS, IPS एवं IFS. ओर बाकी सब सेन्ट्रल लेवल के होते हैं।

और अगर बात करें सैलरी की तो ये सभी के अलग अलग होते हैं, और यह निर्भर करता है कि आपकी रैंक क्या है, आप किस कैटेगरी का जॉब पाए हैं। जैसे कि Dm का पेय स्केल 50लाख से 1.50लाख होता है। मंत्री या विभाग के सचिव का 1 से 2लाख। चीफ सेक्रेटरी को 2लाख। ओर केबिनेट सेक्रेटरी को 2.5लाख मिलता है। ओर इसके साथ ओर भी बहुत सारी फैसिलिटी प्रोवाइड कराई जाती है।

तो ये थी आज की जानकारी "आईएएस कैसे बने" ( How To Become an IAS ). अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो निके कमेंट करना ना भूलें।

No comments:

Post a Comment